Meri Fasal Mera Byora हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के किसानों को एक ही पोर्टल पर कई सेवाएं प्रदान करने के लिए शुरू किया गया एक ऑनलाइन पोर्टल है। हरियाणा सरकार द्वारा दी जाने वाली सभी ऑनलाइन सेवाओं का उपयोग करने के लिए किसान पोर्टल में पंजीकरण कर सकते हैं। स्कीम के तहत पंजीकृत किसानों को ही भविष्य में योजनाओं का लाभ मिलेगा। अभी तक 2600+ किसानों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। सचिव ने कहा कि किसान अपनी फसलों का रजिस्ट्रेशन जरूर कराए। ये उनके लिए काफी लाभकारी रहेगा।

किसान इस पोर्टल में फसल का विवरण दर्ज कर सकते हैं और जमा कर सकते हैं। यह योजना राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा किसानों की मदद के लिए शुरू की गई थी। Meri Fasal Mera Byora ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म ग्रामीण स्तर के उद्यमियों (वीएलई) की मदद से किया जा सकता है या मुफ्त में किसान स्वयं भी फार्म भर सकते हैं।

Meri Fasal Mera Byora के फायदे

मेरी फैसल मेरा ब्यौरा के लाभ नीचे सूचीबद्ध हैं:

  • किसान पंजीकरण, फसल पंजीकरण और खेत का विवरण ऑनलाइन दर्ज किया जाएगा।
  • एक ही स्थान पर सभी सरकारी सुविधाओं की उपलब्धता और किसानों के लिए समस्या निवारण के लिए एक अनूठा प्रयास।
  • फसल बुवाई का समय और बाजार से संबंधित जानकारी प्रदान करना।
  • कृषि से संबंधित जानकारी समय पर उपलब्ध कराई जाएगी।
  • भोजन, बीज, ऋण और कृषि उपकरण के लिए सब्सिडी समय पर उपलब्ध है।
  • प्राकृतिक आपदाओं के दौरान सही समय पर सहायता प्रदान करना।

Meri Fasal Mera Byora की मुख्य विशेषताएं

यह पोर्टल कई तरह की सुविधाएँ प्रदान करता है जिनका लाभ किसान उठा सकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं नीचे दी गई हैं:

  • इस पोर्टल पर पंजीकृत किसानों की फसल सरकार द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य पर खरीदी जाएगी।
  • सरकार, इस पोर्टल के माध्यम से, किसान कल्याण के लिए शुरू की गई हर योजना पर किसानों को सीधे लाभान्वित करेगी।
  • इस पोर्टल के तहत पंजीकरण करने पर किसानों को 10 रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी।
  • इस पोर्टल के तहत, कृषि उत्पाद बेचने और विपणन के लिए विकल्प भी प्रतिस्पर्धी रिटर्न बनाने के लिए उपलब्ध हैं।
  • गांवों में स्थित कॉमन सर्विस सेंटर्स के विलेज लेवल एंटरप्राइज (VLE) किसानों का फसल विवरण ऑनलाइन नि: शुल्क दर्ज करेंगे।
  • किसानों को प्रोत्साहन का भुगतान ई-भुगतान के माध्यम से सीधे उनके बैंक खातों में किया जाएगा।

Meri Fasal Mera Byora के कार्यक्षमता का तरीका

यह सरल प्रणाली किसानों को उनकी भूमि और फसलों के विवरणों की स्व-रिपोर्ट करने और उन्हें सीधे सरकारी योजनाओं के कई लाभों को प्राप्त करने में मदद करेगी।

हरियाणा सरकार द्वारा बीमा कवरेज, कृषि विकास के लिए सब्सिडी, प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल के नुकसान पर मुआवजे और विभिन्न योजनाओं के तहत अन्य वित्तीय सहायता सहित विभिन्न लाभों का लाभ उठाने के लिए, किसानों को जानकारी अपलोड करनी होगी जैसे कि नाम फसल बोई गई, खेती के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र, फसल का महीना, मोबाइल नंबर और किसान का बैंक खाता नंबर।

Meri Fasal Mera Byora के डिपार्टमेंट की सेवाएं

इस पोर्टल के तहत विभिन्न विभागों द्वारा दी जाने वाली सेवाएं निम्नलिखित हैं:

विभाग/डिपार्टमेंटसेवाएं
कृषि और किसान कल्याण विभागइस विभाग के अंतर्गत, कृषि उत्पादन, अनुसंधान और विकास, पशुपालन, मत्स्य पालन, वानिकी,
कृषि विपणन, मृदा संरक्षण, उर्वरकों का वितरण, नलकूप और सूक्ष्म सिंचाई शामिल हैं।
खाद्य नागरिक आपूर्ति विभागराजस्व विभाग खाद्यान्नों की आपूर्ति और वितरण, खाद्यान्नों के भंडारण के लिए गोदामों का अधिग्रहण,
नागरिक आवश्यकताओं के लिए खाद्य पदार्थों की खरीद, खाद्यान्नों में व्यापार और वाणिज्य आदि को शामिल करता है।
उपभोक्ता मामलों का विभागराजस्व विभाग में आंतरिक व्यापार, अंतर-राज्य व्यापार, कानूनी मेट्रोलॉजी में प्रशिक्षण, कीमतों की निगरानी, ​​
आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति का रखरखाव और कालाबाजारी की रोकथाम आदि शामिल हैं।
विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभागयह विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग भोजन, दवाओं, दवा और हथियारों और गोला-बारूद को छोड़कर विज्ञान
और प्रौद्योगिकी की सभी शाखाओं में विशेष क्षेत्रीय प्रयोगशालाओं में नेशनल टेस्ट हाउस द्वारा वाणिज्यिक परीक्षण करता है।

Meri Fasal Mera Byora की योग्यता

Meri Fasal Mera Byora Portal के तहत पंजीकरण करने के लिए योग्यता नीचे दिए गए हैं:

  • हरियाणा राज्य में रहने वाले सभी किसान-लाभार्थी पात्र हैं।
  • पोर्टल के तहत पंजीकरण करने के लिए किसान आवेदक की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • इसके अलावा, किराए पर मकान मालिक, पट्टेदार या किरायेदार सहित किसान पंजीकरण कर सकते हैं।

Meri Fasal Mera Byora के लिए  दस्तावेज़

पोर्टल में पंजीकरण करते समय निम्नलिखित दस्तावेजों को प्रस्तुत किया जाना चाहिए:

  • पहचान प्रमाण: पैन, आधार, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र, आदि।
  • एड्रेस प्रूफ: आधार कार्ड, लीगल पासपोर्ट, यूटिलिटी बिल, प्रॉपर्टी टैक्स बिल इत्यादि।
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  • भूमि / संपत्ति का विवरण दस्तावेज (खेवत, खतौनी, खसरा और किला संख्या)
  • किसान बैंक खाता विवरण
  • कोई अन्य दस्तावेज (यदि लागू हो)

Meri Fasal Mera Byora की ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया

Meri Fasal Mera Byora Portal के तहत पंजीकरण करने के लिए, नीचे दिए गए चरणों का पालन करें:

  • किसान को Meri Fasal Mera Byora के सरकारी पोर्टल fasalhry.in पर जाना होगा। इसके पश्चात “पंजीकरण (क्लिक करें)” बटन पर क्लिक करें, जो पोर्टल के मुख पृष्ठ पर प्रदर्शित होता है।
1. पंजीकरण (क्लिक करें)
  • किसान के रूप में पंजीकरण करने के लिए, आवेदक को सर्च बॉक्स में एक मोबाइल नंबर या आधार नंबर दर्ज करना होगा। उसके पश्चात पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा तो आप ओटीपी दर्ज करें।
2. मोबाइल नंबर या आधार नंबर दर्ज
  • ओटीपी दाखिल करने के बाद, किसानों के पंजीकरण फॉर्म के साथ आगे बढ़ने के लिए व्यक्तिगत विवरण जैसे आवेदक का नाम, जन्म तिथि, पता आदि दर्ज करके “जारी रखें” बटन पर क्लिक करना होगा।
3. आवेदक का नाम, जन्म तिथि, पता meri-fasal-mera-byora-registration-form-farmer
  • अगले चरण में, किसान को फसल और बुवाई की भूमि का विवरण प्रदान करना होगा।
  •  फसल का विवरण और भूमि का विवरण देने के बाद, आगे बढ़ने के लिए “अगला” बटन पर क्लिक करें।
  • अगले चरण में, किसान को बैंक विवरण जैसे खाता संख्या, खाता धारक का नाम, शाखा का नाम और IFSC कोड (अगर नहीं पता तो यहाँ चेक करे) प्रदान करना होगा और पंजीकरण चरणों को जारी रखने के लिए “अगला” बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अंत में, किसान को पंजीकरण प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए मंडी या अरथिया का विवरण भरना होगा।

नोट: पंजीकरण के बाद, आवेदक को आगे के संदर्भ के लिए एक पावती संख्या के रूप में एक संदर्भ आईडी प्राप्त होगी।

शेयर करे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top